Fastblitz 24

Search
Close this search box.

Follow Us:

मुख्तार की मुसीबतों में इजाफा

एक और बेनामी संपत्ति पर आयकर का ताला

लखनऊ: बांदा जेल में बंद माफिया मुख्तार अंसारी की बेनामी संपतियों की जांच कर रहे आयकर विभाग ने लखनऊ के डालीबाग में स्थित एक प्लॉट को जब्त किया है। यह प्लाट पहले मुख्तार की पत्नी अफ्शां के नाम पर था। इसे 2010 में मुख्तार ने अपने करीबी गणेश दत्त मिश्रा के नाम पर स्थानांतरित करवा दिया था। 3,234 वर्ग फीट के 13-C/ 3 प्लॉट की कीमत कागजों में 76 लाख है, लेकिन बाजार में इसकी कीमत डेढ़ करोड़ रुपये बताई जा रही है।

आयकर विभाग ने की जांच

मुख्तार ने यह प्लॉट अपनी पत्नी के नाम पर खरीदा था। इसे बाद में अपने करीबी रियल एस्टेट कारोबारी गणेश दत्त मिश्रा को स्थानांतरित कर दिया था। 2014 में इस प्लॉट पर मुख्तार अंसारी परिवार की एक कंपनी के लिए लोन लिया गया था। 2020 में गणेश ने इसे तनवीर सहर नामक महिला के नाम पर ट्रांसफर कर दिया था। आयकर विभाग ने इसकी जांच की तो पता चला कि सेल डीड पर इस संबंध में जिन बैंक चेकों का उल्लेख किया गया है, वह जाली थे।

इसके बाद पेमेंट कब और कैसे हुई इसकी जानकारी नहीं मिली। नतीजतन आयकर विभाग ने इस सौदे को फर्जी करार देते हुए प्लाट को जब्त कर लिया है। तनवीर सहर भी गाजीपुर की रहने वाली हैं। बताया जा रहा है कि यह तनवीर मुख्तार की करीबी महिला रिश्तेदार हैं। आयकर विभाग मुख्तार की 23 बेनामी संपत्तियों की जांच कर रहा है। इस संबंध में मुख्तार से बांदा जेल में पूछताछ करने बाद गणेश दत्त से भी आयकर की टीमें पूछताछ कर चुकी हैं।

fastblitz24
Author: fastblitz24

Spread the love