Fastblitz 24

Search
Close this search box.

Follow Us:

सांस्कृतिक आदान-प्रदान और सद्भावना दौरे पर गए छात्रों से जूठे बर्तन धुलवाए, कलावा बांधने पर पीटा

कश्मीर के राजौरी से लौटे 

झांसी बरुआसागर नवोदय विद्यालय के छात्रों ने सुनाया वहां का खौफनाक मंजर

झांसी । वहां बड़ा खौफनाक मंजर था। हाथ में कलावा बांधने और कमरे में भगवान की फोटो लगाने पर रितिक का हाथ तोड़ दिया गया। हमसे धार्मिक नारे लगवाए गए। त्योहार की छुट्टी मांगी तो मना कर दिया गया। हिंदू छात्रों से गाली-गलौज की जाती थी। झूठे बर्तन धुलवाते थे। यह दर्द भरी दास्तां शनिवार देर रात कश्मीर के राजौरी से लौटे बरुआसागर नवोदय विद्यालय के छात्रों ने बयां की। जो नवोदय विद्यालय की सांस्कृतिक आदान प्रदान के साथ शिक्षण योजना के तहत कश्मीर की राजौरी नवोदय विद्यालय में गए थे। यह बताते-बताते हुए उनकी आंखें छलक आईं। माता-पिता और अपनों को देखा तो लिपटकर बिलख पड़े। फिर बोले, बस, जान बच गई।

जुलाई में नवोदय विद्यालय बरुआसागर के कक्षा नौ के 20 छात्र राजौरी स्थित नवोदय विद्यालय माइग्रेशन के लिए गए थे। शनिवार रात जब छात्र लौटे तो उनकी आंखों में दहशत थी। गुरसरांय के नुनार खैरो निवासी दीपक कुमार, रानीपुर के विपुल कुमार, उचित चौहान ने बताया कि वहां हम लोगों को बर्बरता से सजा दी जाती थी। राजौरी के स्थानीय छात्र दुश्मन से भी बदतर सलूक करते थे। सीनियर हमसे बर्तन साफ कराते थे। प्रिंसिपल के सामने धार्मिक नारे लगवाए जाते थे।

छात्र प्रयाग ने बताया कि हमारा जीना दूभर गया था, हर सुबह दहशतभरी होती थी। हम खाना खाते थे तो वे लोग लात मारते थे। प्रिसिंपल भी उनसे मिले हुए थे। वाइस प्रिंसिपल जरूर हमारी मदद करते थे। यहां से जो ग्रुप गया था सबके साथ मारपीट हुई। वे लोग लोहे की रॉड रखे हुए थे। कुछ लोग अवैध असलहे भी रखे थे और धर्म के नारे लगाने का दबाव बनाते थे।

 दो सदस्यीय टीम ने सुनी लौट कर आए छात्रों की आपबीती

पूरे घटनाक्रम की जानकारी लेने दो सदस्यीय दल बरुआसागर पहुंचा। टीम में कानपुर नवोदय विद्यालय के प्राचार्य सुमन कुमार, चित्रकूट के प्राचार्य आलोक त्रिपाठी ने राजौरी से लौटे बच्चों से असेंबली में जानकारी ली।

यह थी शिकायत है

● रजौरी से पहुंचते ही बलखते हुए माता-पिता से लिपट गए छात्र

● कहा, खाना खाने पर लात मारते थे,बस किसी तरह जान बच गई

● वहां पर प्रसिपल के सामने हम लोगों से लगवाए धार्मिक नारे

● वहां से निकलने के लिए गाड़ी में बैठे तो उस पर भी किया हमला

बरुआसागर नवोदय विद्यालय के प्राचार्य आरपी तिवारी के मुताबिक छात्र रितिक के हाथ में फ्रेक्चर हो गया। अभिभावकों से लिखित रूप से पत्र लेकर उच्चाधिकारियों को भेजा जाएगा ताकि बच्चों के साथ हुए बर्ताव पर कार्रवाई हो सके।

घटना से आक्रोशित छात्र स्कूल में पूरे दिन एक साथ जुटे रहे।

fastblitz24
Author: fastblitz24

Spread the love