Fastblitz 24

Search
Close this search box.

Follow Us:

विघ्न विनाशक के दरबार में से उमड़ी श्रद्धा

जन्मोत्सव पर घर घर विराजे गणपति , विधिपूर्वक पूजा अर्चना शुरू

जौनपुर। अग्र पूज्य देव, विघ्न विनाशक श्री गणेश का जन्मोत्सव मंगलवार को विधिपूर्वक स्थापना एवं पूजा अर्चना से प्रारंभ हुआ। गत
वर्षों की बात इस वर्ष भी जनपद में गणेश चतुर्थी का पर्व धूमधाम से मनाया जाएगा। चतुर्थी के अवसर पर शहर के गणेश मंदिरों में भव्य फूल बंगला साथ छप्पन भोग लगाए गए। दस दिनों तक चलने वाले इस जन्मोत्सव में भक्ति की अविरल धारा बहने वाली है। मंदिरों के साथ साथ घरों में भी श्रीगणेश चतुर्थी के अवसर पर बप्पा का आगमन हुआ। श्रध्दालुओं द्वारा श्रद्धा भाव से गणेश प्रतिमाओं को स्थापित किया गया।
जगह-जगह लगाए गए पूजा पंडालाे में भव्य सजावट की गई है।

नगर व ग्रामीणांचलों की बाजारों में गणपति पूजनोत्सव हर्षोल्लास के साथ शुरू हुआ। नगर क्षेत्र के परमानतपुर, रुहट्टा, कालीकुत्ती, आलमगंज, ईशापुर, आदि स्थानों पर स्थापित मूर्तियां लोगों को आकर्षित कर रही हैं। ध्वनि विस्तारक यंत्रों द्वारा हो रहे भक्तिमय गीतों के प्रसारण से पूरा शहर ही धार्मिक माहौल में दिख रहा है।
नगर के प्रमुख बाजार ओलनंदगंज स्थित राजेंद्र रेस्ट हाउस परिसर में
गणपति आगमन पर धूमधाम से उनका स्वागत किया गया। श्रद्धालु देवेश निगम ने बंधु बांधवो के साथ विधिपूर्वक पूजा अर्चना कर सजे सजाए आसन पर विराजमान किया।
शीतला चौकिया चौराहा स्थित प्राचीन शिव मंदिर पर प्रत्येक साल की तरह इस साल भी बड़े ही धूमधाम से गणेश पूजनोत्सव कार्यक्रम का आयोजन श्रद्धा एवं विश्वास से किया जा रहा है।

मछलीशहर नगर में गणेश महोत्सव के प्रथम दिन भगवान गणेश की प्रतिमा को विद्वानों एवं ब्राह्मणों द्वारा प्राण प्रतिष्ठा करने के बाद ही पूरे नगर में गणपत बप्पा मोरया की गूंज से गुंजायमान हो गया। इस दौरान भक्तों द्वारा दिनभर भजन, कीर्तन एवं भक्ति गीतों से पूरा नगर गुंजायमान रहा। नगर के शिव भक्ति गणेश पूजा समिति सहित दर्जन भर स्थानों पर भगवान गणेश की प्रतिमा स्थापित की गईं।
फतेहगंज गुलजारगंज व खपरहा आदि बाजारों में गणपति पूजा महोत्सव शुरु हुआ। मडियाहूं, रामपुर, बरसठी, जलालपुर, बदलापुर, शाहगंज, केराकत, खेतासराय आदि क्षेत्रों में धूमधाम से गणपति प्रतिमाएं स्थापित की गई।
हर वर्ष मनाया जाने वाला यह महोत्सव गणेश चतुर्थी से लेकर अनंत चतुदर्शी तक अनवरत चलेगा। अनंत चतुदर्शी को अगले वर्ष आना गणपति बप्पा मोरिया के जयघोष के साथ इनका विसर्जन किया जाएगा।

fastblitz24
Author: fastblitz24

Spread the love