Fastblitz 24

Search
Close this search box.

Follow Us:

विलंब से आए छात्रों को नहीं मिलेगा विद्यालय में प्रवेश

जीवन में शिक्षा के साथ अनुशासन भी

सिकरारा। अब विद्यार्थियों को समय से विद्यालय आना होगा। प्रातः8:00 बजे के बाद स्कूल आने वाले अब स्कूल में प्रवेश नहीं पा सकेंगे। यह नियम विद्यार्थियों के साथ-साथ अध्यापकों और विद्यालय कर्मियों पर भी लागू होगा। वह हमारे स्कूल का छात्र हो या कोई कर्मचारी, सबको स्कूल के अनुशासन में रहकर पठन पाठन करना पड़ेगा। यह कहना है क्षेत्र के अग्रणी विद्यालय किसान आदर्श राष्ट्रीय इंटर कॉलेज के प्रधानाचार्य अशोक कुमार मिश्रा का । अनुशासन की कवायद में लगे श्री मिश्र ने फास्ट ब्लिट्ज 24 के साथ से एक अनौपचारिक वार्ता में कहा कि जीवन पथ पर ज्ञान के साथ ही अनुशासन भी महत्वपूर्ण है।

दरअसल यह बात उन्होंने तब गई जब गुरुवार को सुबह 8:30 बजे के करीब फास्ट ब्लिट्ज टीम को उक्त कॉलेज के बंद गेट के बाहर दर्जनों छात्र खड़े होकर गेट खुलने का इंतजार करते मिले। पूछने पर छात्रों ने टीम को बताया कि विलंब के कारण विद्यालय का मुख्य द्वार बंद कर दिया गया है। थोड़ी ही देर में वहां पहुंचे विद्यार्थियों की संख्या दुगनी से भी ज्यादा हो गई। इस संबंध में जब प्रधानाचार्य अशोक कुमार मिश्र से पूछा गया तो उन्होंने उपरोक्त बातें कहीं। हालांकि बाद में उन्होंने विलंब से आए विद्यार्थियों को चेतावनी देकर कक्षाओं में जाने की अनुमति दे दी।
प्रधानाचार्य की इस कवायद से शिक्षा जगत की एक और खामी सामने आई। विलंब से विद्यालय पहुंचे विद्यार्थियों से जब प्रधानाचार्य ने विलंब का कारण पूछा तो अधिकांश विद्यार्थियों ने प्रातः कोचिंग और ट्यूशन की वजह से विलंब होना बताया। प्रधानाचार्य में नाराजगी जताते हुए कहा विद्यार्थियों से कहा कि यदि वे समय से विद्यालय पहुंचकर अपने अध्यापकों के दिशा निर्देशों के अनुसार अध्ययन करेंगे तो उन्हें किसी प्रकार की कोचिंग या ट्यूशन की आवश्यकता नहीं रहेगी ।प्रधानाचार्य अशोक कुमार मिश्र की यह पहल क्षेत्र में चर्चा का विषय बनी हुई है इसकी सर्वत्र प्रशंसा हो रही है।

fastblitz24
Author: fastblitz24

Spread the love