Fastblitz 24

Search
Close this search box.

Follow Us:

प्रधानाध्यापिका रागिनी ने बढ़ाया जौनपुर का गौरव

कविता संग्रह ‘चहक‘ में उनकी 4 कविताएं शामिल
जौनपुर। ‘भारत का शिराज’ कहे जाने वाले यमदग्निपुरम‍् जौनपुर में प्रतिभाओं की कमी कभी नहीं रही। यह जनपद इतिहास में शिक्षा के लिए देश- दुनिया में मशहूर था। विदेशों से भी लोग यहां पर शिक्षा ग्रहण करने के लिए आते थे। आज यहां के प्राथमिक विद्यालयों के शिक्षक भी अपनी प्रतिभा का लोहा मनवा रहे हैं। कुछ ऐसा ही कर दिखाया अभिनव प्राथमिक विद्यालय ककोरगहना की प्रधानाध्यापक रागिनी गुप्ता ने। उत्तर प्रदेश के 15 जिलों के अनुभवी शिक्षकों में जौनपुर की रागिनी ने भी अपना नाम स्वर्ण अक्षरों में अंकित करा लिया। बच्चों के लिए विभिन्न विषयों से संबंधित 140 कविताओं के संग्रह ‘चहक’ में रागिनी की 4 कविताएं शामिल हैं। यह जनपद के सभी शिक्षकों के लिए गौरव की बात है।

बच्चों के लिए प्रेरणादायक होंगी कविताएं : रागिनी गुप्ता

गौरतलब हो कि ‘चहक’ का सम्पादन राज्य पुरस्कार प्राप्त शिक्षिका अरूना कुमारी राजपूत ‘राज’ द्वारा किया गया है। इस संबंध में रागिनी गुप्ता ने बताया कि उनकी 4 कविताएं ‘चहक’ में प्रकाशित होना उनके लिए गर्व का क्षण है। ये कविताएं निश्चित ही बच्चों के लिए लाभदायक होंगी। साथ ही शिक्षण कार्य में भी सभी शिक्षकों की मदद भी करेंगी।


उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा प्राथमिक एवं माध्यमिक शिक्षा के उन्नयन के लिए किए जा रहे
सह शैक्षिक गतिविधियों में चहक का प्रकाशन भी उसका हिस्सा है। इस अभिनव प्रयोग से विद्यार्थियों की अंदर शिक्षा के प्रति लगाओ पैदा हो सकेगा लगाओ

fastblitz24
Author: fastblitz24

Spread the love