Fastblitz 24

Search
Close this search box.

Follow Us:

सरकार की श्रम विरोधी नीतियां चिंताजनक : मजूमदार

दवा प्रतिनिधियों की विशेष आम सभा में उद्बोधन

जौनपुर। यूपीएमएसआरए ईकाई कि एक विशेष आम सभा का आयोजन 27 जुलाई की रात को घनश्याम दास मैरिज लान में संपन्न हुआ।
इस विशेष आम सभा को दवा प्रतिनिधियों के राष्ट्रीय संगठन एफएमआरएआई के पूर्व महामंत्री कॉमरेड जे. एस. मजूमदार. एवं सीटू के राष्ट्रीय सचिव कॉमरेड के. एन. उमेश ने संबोधित किया।
साथी मजूमदार ने देश में चल रहे श्रम विरोधी नीतियों को लेकर चिंता जाहिर की विशेष रुप से सरकार के मंत्री एवं अधिकारियों द्वारा दवा प्रतिनिधियोंं को अस्पतालों में काम करने की रोक लगाना या तो उनकी अज्ञानता है या संविधान विरोधी वक्तव्य है, जबकि दवा प्रतिनिधियों के लिए द ड्रग एंड मैजिक रेमिडीज (ऑब्जेक्शनेबल एडवरटाइजमेंट) एक्ट 1954 बना हुआ है साथ ही साथ सेल्स प्रमोशन ईम्प्लॉय एक्ट 1976 बना हुआ है जिसमें कानूनी तौर पर दवा प्रतिनिधियों को रजिस्टर मेडिकल प्रैक्टिशनर अस्पतालों दवा की दुकानों पर काम करने का अधिकार दिया हुआ है।
साथी के.एन. उमेश ने आज पूरे देश में सरकार के सह पर नियोक्ताओं द्वारा तमाम क्षेत्र के संगठित एवं असंगठित मजदूरों के ऊपर उत्पीड़न एवं शोषण किया जा रहा है जिसे सीआईटीयू ने सभी केंद्रीय संगठनों के साथ-साथ ज्ञापन धरना प्रदर्शन के द्वारा सूचित भी किया है अगर सरकार अभी श्रमिकों की नहीं सुनती है तो आने वाले दिनों में पूरे देश के श्रमिक एक साथ मिलकर किसी बड़े कार्यक्रम में जाने के लिए मजबूर होंगे।
इस कार्यक्रम में मुख्य रूप से यूपीएमएसआरए के राज्य सचिव नीरज श्रीवास्तव, राज्य कार्यकारिणी सदस्य राजेश रावत, जिला अध्यक्ष मनोज सिंह, जिला सचिव अजय चौरसिया, के साथ-साथ अजय सिंह, अमित रंजन श्रीवास्तव, सहित तमाम साथियों का अहम योगदान रहा ।

fastblitz24
Author: fastblitz24

Spread the love